स्टाइलिश साड़ी पहनावे के २० तरीके

vinaykumarsadanand

 

                        शादी समारोह के लिये
साड़ी पहनावे के २० तरीके
  

    शादी समारोह में
साड़ी पहनने के बहुत सारे तरीके हो सकते हैं।यहां कुछ प्रमुख तरीके
हैं जिन्हें आप आजमा सकती हैं:

1.     
लहरीया साड़ी: यह उत्तर
भारतीय स्टाइल की साड़ी है जिसमें बहुत सारे कलर्स और लहरें होती हैं। इसे जुड़वां
पल्लू के साथ पहना जा सकता है जो आपकी साड़ी को और भी आकर्षक बना देता है।

2.     
लीहर साड़ी: यह गुजराती स्टाइल की साड़ी है
जिसमें पल्लू को गोल मटोल तरीके से पहना जाता है। इसे रंगीन ब्लाउज और गहनों के
साथ पहनने से आपका लुक और भी शानदार होगा।

3.     
बंधनी साड़ी: यह राजस्थानी स्टाइल की साड़ी
है जिसमें विभिन्न रंगों के गोल गोल बंदनी पैटर्न होते हैं।इसे पहनकर आप अपने
आपको रंगीन और प्रीतिग्रहीत लगाएंगी।

4.     
कांची सिल्क साड़ी: यह तमिलनाडु
स्टाइल की साड़ी है जिसमें चमकीला कांची सिल्क इस्तेमाल होता है। इसे चोली और
गहनों के साथ पहनने से आप शादी समारोह में शानदार दिखेंगी।

5.     
 नावारी
साड़ी:
महाराष्ट्रीयन साड़ी को नावारी साड़ी के नाम से जाना जाता है।
यह साड़ी गज़र चोली और पिणणे के साथ पहनी जाती है और एक गणेश जूड़ा शामिल होता है।

6.     
लेहेंगा साड़ी: यह एक
संयुक्त साड़ी और लेहेंगा का संयोग है
, जिसमें साड़ी के अंग और लेहेंगा
स्कर्ट का उपयोग होता है। इसे भव्य चोली और दुपट्टा के साथ पहना जाता है।

7.     
 पैन्ट
साड़ी:
यह नवीनतम फैशन ट्रेंड है जिसमें साड़ी की जगह पैंट या
धोती-स्टाइल के पैंट पहने जाते हैं। यह एक मॉडर्न और स्टाइलिश लुक प्रदान करता है।

8.     
 द्राप
साड़ी:
यह एक शॉल के साथ पहनी जाने वाली साड़ी है, जिसे
विभिन्न तरीकों से बाँधा जाता है।इसे पिन या ब्रोच के द्वारा फिक्स किया जाता है
और लुक बनाने के लिए पल्लू को सजाया जाता है।

9.     
गुप्तपट
साड़ी:
गुप्तपट साड़ी एक प्रकार की विशेष मराठी साड़ी
है जिसमें पल्लू को एक
प्रकार से घुंघट की तरह मुँह पर लिया जाता है, जिससे
इसका नाम “गुप्तपट”
है। इस साड़ी में पल्लू चेहरे को ढ़कने के लिए
उपयोग होता है और यह एक
गंभीर और परंपरागत लुक प्रदान करती है। यह
साड़ी महाराष्ट्रीयन ब्राह्मण
समुदाय के लोगों द्वारा प्रमुखतः पहनी जाती है
और विशेष अवसरों पर चुनी
जाती है। गुप्तपट साड़ी के साथ गजर, चोली, पिन, और
विभिन्न आभूषण भी
संयुक्त रूप से पहने जाते हैं।

10.   बंधानी साड़ी: यह
एक प्रमुख राजस्थानी साड़ी स्टाइल है जिसमें साड़ी के अंग बंधाई जाती है
, जिससे
खास डायज़ाइन और पैटर्न बनाए जाते हैं।

11.  शरारा साड़ी: यह एक आसान और शानदार विकल्प है,
जिसमें
साड़ी के साथ शरारा पहना जाता है। शरारा साड़ी में साड़ी के पल्लू को शरारा के साथ
बांधा जाता है और एक राजस्थानी या पाकिस्तानी लुक प्रदान करता है।

12.   कालीन साड़ी: यह
एक अनोखी साड़ी स्टाइल है जिसमें साड़ी के पल्लू को कालीन (शोल्डर) पर फिक्स किया
जाता है। यह एक मॉडर्न और आकर्षक लुक प्रदान करता है।

13.   बोनसारी साड़ी: यह
राजस्थानी साड़ी का एक प्रकार है जिसमें साड़ी के पल्लू को टाँगों पर ढ़कने के लिए
एक विशेष तकिया या बोनसारी उपयोग किया जाता है।

14. 
गोटा पट्टी साड़ी:
गोटा पट्टी साड़ी गुजराती स्टाइल की एक प्रमुख साड़ी है। इसमें साड़ी के
पल्लू, बॉर्डर
और अक्सेंट में गोटा पट्टी (लटकनेवाली पट्टी) का उपयोग किया
जाता
है। यह पट्टी ब्रॉडर और पल्लू पर आकर्षक चमकदार कढ़ाई और आभूषणों को
शामिल
करती है। गोटा पट्टी साड़ी शादी और उत्सवी अवसरों में प्रमुख रूप से
पहनी
जाती है और गुजराती कला और रंगों को प्रदर्शित करती है। इसे चोली और
आभूषणों
के साथ पहना जाता है ताकि एक पूर्ण परिपूर्ण लुक प्राप्त हो सके।

15.   राजस्थानी पोशाक साड़ी: यह
राजस्थान की परंपरागत पोशाक साड़ी है जिसमें फ्लेयर और लंबे पल्लू के साथ बड़े और
आकर्षक पैटर्न होते हैं।

16.   बांसुरी साड़ी: यह
साड़ी पूर्वी भारतीय स्टाइल की है जिसमें विशेष तरह के पल्लू और फ्लोरल या गुलाबी
गणेश डिजाइन होता है।

17.   धाकड़ साड़ी: यह
बंगाली स्टाइल की साड़ी है जिसमें ज्यादातर बांगला बंधन और बातिक प्रिंट का उपयोग
किया जाता है।

18.    उड़ीया साड़ी: यह
ओडिशा की पारंपरिक साड़ी है जिसमें एक विशेष ढाला और आकर्षक डिज़ाइन होता है। यह
साड़ी एक आकर्षक पूर्णता प्रदान करती है।

19.    गाडवाली साड़ी: यह
उत्तराखंड की परंपरागत साड़ी है जिसमें प्लेटेड पल्लू और अक्सेंट गज़र डिज़ाइन
होता है। यह एक शानदार और आकर्षक लुक प्रदान करती है।

20. 
वेस्टर्न साड़ी: वेस्टर्न
साड़ी एक आधुनिक और स्टाइलिश विकल्प है। यह साड़ी ट्रेंडी और
फैशनेबल
लुक प्रदान करती है और उच्चतम मानकों के साथ तैयार की जाती है।
इसमें
साड़ी के अंग को पंखड़ी स्टाइल में बाँधा जाता है और पल्लू गटर या
कंघी
द्वारा फिक्स किया जाता है। यह साड़ी विभिन्न पार्टी
, उत्सव
और सोशल
गैथरिंग्स के लिए उपयुक्त होती है और विशेष तौर
पर युवा महिलाओं के बीच
पसंद की जाती है। वेस्टर्न साड़ी आपके लुक को
आधुनिक
, छातीकारक और अलग दिखती है।

 

   साड़ी पहनने
का तरीका विभिन्न प्रकार की साड़ियों और शैलियों पर निर्भर करेगा।यहां सामान्यतः
साड़ी पहनने का एक साधारण तरीका है:

1.     
पहले, आपको पेटीकोट (अंडरस्कर्ट) पहननी होगी।यह आपकी साड़ी को सुरक्षित रखेगी और उसे बेहतरीन ढंग से दिखाएगी।

2.     
अब, साड़ी की एक सीमा को चुनें और उसे
पेटीकोट में बांध दें।ध्यान दें कि साड़ी की सीमा ज्यादातर नीचे की ओर रखी जाती
है।

3.     
साड़ी को पेटीकोट के चारों ओर घुमाएँ और उसे धीरे-धीरे ऊपर
उठाएँ।आपको साड़ी को ठीक तरीके से संभालने के लिए ध्यान देना होगा।

4.     
जब आपकी साड़ी को ऊपर उठा लिया जाए, तो उसे पल्लू
के रूप में घुमाएँ और दाएं कंधे पर ड्रेप करें।

5.     
पल्लू को सुंदरता के साथ सजाने के लिए उसे तान या पिन के
द्वारा फिक्स करें।आप इसे अपनी पसंद के अनुसार सजा सकते हैं।

6.     
अब, साड़ी की बाकी भाग को पीछे ले जाएँ और
उसे पल्लू के साथ बांध दें।

7.     
पीछे ले जाएँ गई साड़ी की बाकी भाग को पल्लू के साथ बांध दें।इसके लिए, साड़ी को बाएं हाथ से पकड़ें और उसे दाएं हाथ से अपने शरीर के
आसपास ले जाएँ।

8.     
अब दाएं हाथ को बाएं हाथ के साथ जोड़ें और दोनों हाथों को साथ
मिलाएँ।इससे साड़ी को ठीक ढंग से बांधने में मदद मिलेगी।

9.     
साड़ी के बचे हुए भाग को अच्छी तरह से बांधें और जरूरत अनुसार
उसे पल्लू के साथ सजाएँ।आप उसे घुंघट की तरह या आपकी पसंद के अनुसार सजा सकते
हैं।

साड़ी पहनने
का यह तरीका आमतौर पर इस्तेमाल किया जाता है
, लेकिन यह विभिन्न
शैलियों और साड़ी प्रकारों पर भी बदल सकता है।साड़ी पहनते समय ध्यान दें कि साड़ी
ठीक तरीके से बांधी जाए और आपको आरामदायक महसूस होना चाहिए।

 

 

Share This Article
Leave a comment